// // Leave a Comment

ग्रहों को अलग ख़ानों में पहुचाने का तरीका

॥ॐगणेशाय नम:॥

गरहों का शुभ फल पाने के गरहों को नीचे लिखे तरीके से शुभ फल पा सकते हैं बशर्ते उन गरहों के अपने पक्के ख़ानों में उनके दुश्मन गरह ना बैठे हों॥

१. लगन में पहुचाने के लिए गरहों की चीजें गले धारण करना मुबारक होगा।

२.दुसरे ख़ाना के लियेे गरहों की मुतल्लक चीजें मंदिर/गुरूद्वारे/मसज़िद में रखना मुबारक़ होगा।

३.ख़ाना तीन के लिये गरह के मुतल्लक धातु का कड़ा/नग कलाई में पहनना मुबारक़ होगा।

४.ख़ाना चार के लिये गरह की चीजें नदी में बहाना मुबारक़ होगा।

५.ख़ाना पाँच के लिये मदरसा/स्कूली बच्चों को गरह मुतल्लक चीजें बाट देवें (वक़त तकरीबन दुपैहर का होवे)।

६.ख़ाना छठे के लिये गरह मुतल्लक चीजें खूह/कुआँ या तलाब के में दफ़न मुबारक़ होगा।

७.ख़ाना सात के लिये गरह मुतल्लक चीजें जंगल में दरख़्त की जड़ में दफ़न करना मुबारक़ होगा।

८.आठवें खाना के लिये अमावस की रात किसी शमसाण में चिता के आसपास रख देवें।

९.ख़ाना नौ के लिये गरह मुतल्लक चीजें गले या मंदिर में रख देवें।

१०.ख़ाना दस के लिये गरह मुतल्लक चीजें को चूरण बना कर पिता/दादा के ख़ाने मिलाकर देवें या किसी सरकारी इमारत के नज़दीक दफन कर दें(जहाँ पर इमारत का साया पड़ता रहे।

११.ख़ाना ग्यारह के लिये नौकरों/गुलामों (जमांदार या घर का नौकर)को खुश रखें।

१२.ख़ाना बारह के लिये गरह मुतल्लक चीजें घर की छत पर कायम रखना मुबारक़ होगा॥

0 Comments:

Post a Comment